गाजा पट्टी पर इस्रायली बमबारी और नरसंहार के खिलाफ भारतीय जन के विरोध-प्रदर्शन में 13 जुलाई को 11 बजे इस्रायली दूतावास (3, औरंगजेब रोड, नयी दिल्‍ली) पर ज़रूर पहुँचें

July 11th, 2014  |  Published in प्रेस विज्ञप्ति/Press Release

क्‍या आपने सोशल मीडिया पर इस्रायली बमबारी में घायल और मृ‍त बच्‍चों की तस्‍वीरें और गाजा की तबाही देखी? जियनवादी हत्‍यारे वहाँ इस सदी का सबसे बड़ा नरसंहार कर रहे हैं। वे गाजा को नेस्‍तनाबूद कर देना चाहते हैं। दुनिया की सरकारें चुप हैं, पर जनता सड़कों पर विरोध कर रही है। मोदी सरकार चुप है, पर हमें जियनवादियों का विरोध कर अपने ज़ि‍न्‍दा होने का सबूत देना होगा। यह अपील किसी संगठन-विशेष की ओर से नहीं है। यह सभी इंसाफपसंद नागरिको की ओर से सभी इंसाफपसंद नागरिकों का आह्वान है। इस्रायली दूतावास पर प्रदर्शन के बाद हम जंतर-मंतर पहुँचेंगे और भारत सरकार को ज्ञापन देंगे कि वह अपनी चुप्‍पी तोड़े, इस्रायल से सभी राजनयिक सम्‍बन्‍ध तोड़े और गाजा नरसंहार के विरुद्ध संयुक्‍त राष्‍ट्रसंघ की आपातका‍लीन बैठक बुलाने का प्रस्‍ताव रखे।

तो 13 जुलाई को अवश्‍य पहुँचिए इस्रायली दूतावास के सामने।

नोट: यह प्रदर्शन किसी संगठन विशेष या साझा मोर्चे का प्रदर्शन नहीं है इसलिए सभी से निवेदन है कि यहां पर अपने संगठन का बैनर ना लायें। पोस्‍टर, दफ्तियां आदि लाये जा सकते हैं पर उन पर भी सिर्फ नारे, कवितायें आदि होनी चाहिये, संगठन का नाम नहीं। 
यह प्रदर्शन उन सभी इंसाफपसन्‍द लोगों का प्रदर्शन है जो हर तरह की बर्बरता के विरूद्ध खड़े होने का माद्दा रखते हैं।

An urgent request, an appeal

all justice loving friends and comrades, please share this appeal to as much people as you can.
Join the Indian peoples’ protest demonstration against Israeli bombing and genocide in front of the Israeli Embassy (3, Aurangzeb Road, New Delhi) on 13th July at 11 A.M.!

In spite of the total black-out in the electronic and print media worldwide, we are all aware of the images of maimed, mutilated and murdered children and the utter destruction heaped upon Gaza by Israeli bombing. The Zionist assassins are perpetrating the century’s worst genocide in Gaza. They are hell-bent on Gaza’s devastation and are inflicting the most inhuman atrocities on the Palestininan folk. The governments all over the world have maintained a studied silence, but the masses have taken to the streets to vent their protest. The Modi Government is silent, but we want to give evidence of being alive by protesting against the Zionists.
This appeal is not being made by any specific organisation. This is an exhortation from all justice-loving citizens to all fellow justice-loving citizens.
After the protest demonstration at the Israeli Embassy, we will march to Jantar-Mantar and we will present a memorandum to the Indian Government urging it to break its silence, break off all political ties with Israel and to table a proposal for convening an Emergency meeting of the United Nations against the Gaza genocide.

Assemble in front of the Israeli Embassy on 13th July at 11 A.M.!

Note: This demonstration is not that of any organisation or a joint front. Hence all are requested not to bring the banners of your respective organisations. The posters, placards etc. can be brought, but only slogans, poems etc. should be written on them and not the name of the organisation. This demonstration is that of all the justice-loving people who dare to oppose all kinds of barbarism.

फेसबुक पर/On Facebook

gaza 2014 july1

Your Responses

5 × three =


Read in your language

सब्‍सक्राइब करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हाल ही में


फ़ासीवाद, धार्मिक कट्टरपंथ, सांप्रदायिकता संबंधी स्रोत सामग्री

यहां जिन वेबसाइट्स या ब्‍लॉग्‍स के लिंक दिए गए हैं, उन पर प्रकाशित विचारों-सामग्री से हमारी पूरी सहमति नहीं है। लेकिन एक ही स्‍थान पर स्रोत-सामग्री जुटाने के इरादे से यहां ये लिंक दिए जा रहे हैं।
 

हाल ही में

आर्काइव

कैटेगरी

Translate in your language