प्रेस विज्ञप्ति/Press Release

नकुल सिंह साहनी की चर्चित डाॅक्युमेंट्री फिल्म ‘मुज़फ़्फ़रनगर बाक़ी है…’ का प्रदर्शन

June 10th, 2015 by Smash Fascism | No Comments

साहित्‍य-कला-संस्‍कृति, समाज और मीडिया पर केन्द्रित सृजन और संवाद के जनपक्षधर मंच ‘अन्‍वेषा’ की ओर से 13 जून को युवा फिल्मकार नकुल सिंह साहनी की चर्चित डाॅक्युमेंट्री फिल्म ‘मुज़फ़्फ़रनगर बाक़ी है…’ का प्रदर्शन और बातचीत। स्‍थान : उर्दू घर, 212, राउज़ एवेन्‍यू, नई दिल्‍ली-2 (आईटीओ, गांधी शांति प्रतिष्‍ठान के सामने) तिथि : 13 जून 2015; समय : अपराह्न 3 बजे


फासीवादी सत्ता की औजार है सांप्रदायिक खुफिया-सुरक्षा एजेंसियां- गौतम नवलखा

September 20th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

बाटला हाउस फर्जी मुठभेड़ की छठी बरसी पर रिहाई मंच ने लखनऊ में किया सम्मेलन पांच सूत्रीय प्रस्ताव हुआ पारित, बाटला हाउस फर्जी मुठभेड़ की न्यायिक जांच की मांग लखनऊ, 19 सितंबर 2014। बाटला हाउस फर्जी एनकाउंटर की छठवी बरसी पर समूचे प्रकरण की न्यायिक जांच की मांग को लेकर रिहाई मंच द्वारा ’सांप्रदायिक ध्रुवीकरण […]


Arrest and inhumane treatment of Salman Zalman

August 21st, 2014 by Smash Fascism | No Comments

Further, we want to bring attention to the fact that vigilante ultra nationalist rightwing groups are at present conducting an extremely abusive hate campaign against Salman on Facebook. The abusive comments on his Facebook wall have become so vicious that some even threaten to rape the women who are in support of him.







Protest demonstrations held in different parts of the country against the barbaric genocide of the Palestinian people by Israel

July 19th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

Call for an immediate cessation of the barbaric attack   New Delhi, 18 July 2014. Terming the ongoing Israeli attack on the ordinary citizens of Gaza as genocide, citizens, intellectuals, artists, students-youth, women and social activists held protest demonstrations, distributed pamphlets and took out bicycle rally between 13 July to 18 July in different parts […]


इजरायल द्वारा फिलस्तीनी जनता के बर्बर नरसंहार के खिलाफ देशभर में विरोध-प्रदर्शन

July 18th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

13 जुलाई को ‘इंडियन पीपुल इन सॉलिडैरिटी विद गाजा’ के आह्वान पर सुबह 11 बजे दिल्‍ली स्थित इजरायली दूतावास के सामने सैकड़ों लोगों ने जियनवाद-साम्राज्‍यवाद विरोधी, इस्रायल विरोधी व फिलस्‍तीनी जनता के समर्थन में नारे लगाए गए, इजरायल द्वारा नरसंहार का विरोध किया और वहां मौजूद लोगों ने अपनी बात रखी।







गाजा पट्टी पर इस्रायली बमबारी और नरसंहार के खिलाफ भारतीय जन के विरोध-प्रदर्शन में 13 जुलाई को 11 बजे इस्रायली दूतावास (3, औरंगजेब रोड, नयी दिल्‍ली) पर ज़रूर पहुँचें

July 11th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

जियनवादी हत्‍यारे गाजा में इस सदी का सबसे बड़ा नरसंहार कर रहे हैं। वे गाजा को नेस्‍तनाबूद कर देना चाहते हैं। दुनिया की सरकारें चुप हैं, पर जनता सड़कों पर विरोध कर रही है। मोदी सरकार चुप है, पर हमें जियनवादियों का विरोध कर अपने ज़ि‍न्‍दा होने का सबूत देना होगा। 13 जुलाई को अवश्‍य पहुँचिए इस्रायली दूतावास के सामने।







Communal Attacks on Muslims of Pune: A Fact Finding Report

June 24th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

Though Mohsin’s murder was the worst part of the violence, the state govt as well as the media focuses only on this. But behind this so many planned attacks against the muslim places of worship and on their economic activities.







Press release: Muslim woman’s murder highlights rampant Islamophobia

June 20th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

Murder of a Saudi Arabian female student in Colchester yesterday seemingly targeted because her clothes marked her out as a Muslim. PhD student Nahid Al Manea, 31, was found bleeding to death on a footpath in Colchester, Essex, with multiple stab wounds to the head and body. She was wearing a dark blue robe known as an ‘Abaya’, as well as a multi-coloured hijab, leading police to believe she may have been the victim of an Islamophobic murder.







भविष्‍य के पूर्वसंकेत और रचनाकारों-कलाकारों-बुद्धिजीवियों से एक अपील : कुछ ठोस प्रस्‍ताव

June 10th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

जाने-माने लेखक यू.आर.अनंतमूर्ति को ‘नमो ब्रिगेड’ और शिमोगा की भाजपा इकाई ने पाकिस्‍तान जाने का टिकट भिजवाया है। वे लगातार आतंक के साये में जी रहे हैं। यह तो ”अच्‍छे दिनों” की मात्र एक शुरुआत है। मोदी सरकार ”विकास” के नाम पर शान्ति क़ायम करने के लिए मज़दूरों पर जमकर कहर बरपा करेगी, भारी आबादी को उजाड़कर पूँजीपतियों को जल-जंगल-जमीन औने-पौने भावों पर सौंपा जायेगा और दूसरी ओर सड़कों पर फासिस्‍ट गिरोह जमकर उपद्रव-उत्‍पात मचायेंगे और धार्मिक अल्‍पसंख्‍यकों तथा सभी सेक्‍युलर-जनवादी-प्रगतिशील ताकतों को निशाना बनायेंगे।







 Islamophobia runs rampant in ‘Trojan Horse’ conclusions

June 9th, 2014 by Smash Fascism | No Comments

The investigations themselves betray the same Islamophobic tropes that gave rise to them. Pupils have been subjected to aggressive questioning about whether they are forced to wear the hijab or to sit separately from members of the opposite sex, and teachers asked if they were homophobic.







Statement on the Hate Crime in Pune: Concerned IT professionals

June 9th, 2014 by Smash Fascism | 1 Comment

One cannot help seeing this incident vis-à-vis forthcoming assembly elections in Maharashtra. As a run-up to the elections which are due in a few months, an attempt to polarize the masses on communal lines with the sheer intention of electoral gains, as we have seen elsewhere, seems to be on the cards.







जन अदालत में उजागर हुई आईबी की साम्प्रदायिक जेहनियत

June 20th, 2012 by Smash Fascism | No Comments

खुफिया एजेंसियों की साम्प्रदायिकता और आतंकवाद विषय पर आयोजित जन अदालत में लोगों ने अपना पक्ष रखा। इसमें आतंकवाद के नाम पर पीड़ित किये जा रहे लोगों ने अपनी व्यथा सुनाई कि किस तरह से महिलाएं और बच्चे मानसिक प्रताड़ना का शिकार बन रहे हैं।








Read in your language

सब्‍सक्राइब करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हाल ही में


फ़ासीवाद, धार्मिक कट्टरपंथ, सांप्रदायिकता संबंधी स्रोत सामग्री

यहां जिन वेबसाइट्स या ब्‍लॉग्‍स के लिंक दिए गए हैं, उन पर प्रकाशित विचारों-सामग्री से हमारी पूरी सहमति नहीं है। लेकिन एक ही स्‍थान पर स्रोत-सामग्री जुटाने के इरादे से यहां ये लिंक दिए जा रहे हैं।
 

हाल ही में

आर्काइव

कैटेगरी

Translate in your language